BCA क्या होता है । BCA full form । बीसीए की सम्पूर्ण जानकारी

इस लेख में आप BCA क्या होता है ? BCA का सिलेबस क्या है ? BCA कोर्स क्या ? BCA सैलरी क्या है ? BCA का सब्जेक्ट्स क्या है ? इत्यादि की विस्तृत जानकारी पाएंगे । और मेरा यकीन है इस लेख को ध्यान से पूरा पढ़ लेने के बाद BCA से सम्बंधित कोई भी शंका , सन्देश या सवाल आपको नही बचेगा । तो चलिए अब बढ़ते है हम लक्ष्य “BCA की पूरी जानकारी” की ओर ।

BCA क्या होता है ? Bca full form

BCA full form in hindi

B.C.A का full form BACHELOR IN COMPUTER APPLICATION हिंदी में इसे कंप्यूटर विज्ञान में स्नातक कहते है।

BCA (कंप्यूटर विज्ञान में स्नातक) एक विशाल क्षेत्र है और छात्रों के लिए ढ़ेर सारी नौकरियों के अवसर प्रदान करता है। दोस्तों वर्तमान समय में पढ़ाई का तरीका पूरी तरह से बदल गया है। अब पहले के जैसे इतिहास, भूगोल, इंग्लिश, हिंदी सब्जेक्ट में पीएचडी करने से कुछ नहीं होता है। आप लाखों डिग्रियां प्राप्त कर लेंगे लेकिन फिर भी नौकरी के लिए आपको दर-दर भटकना पड़ेगा। क्योंकि वर्तमान की शिक्षा व्यवस्था और सरकारी कामकाज सभी ऑनलाइन हो रहे हैं। इसलिए बीसीए एक सबसे अच्छा विषय है जिसमें अगर आप थोड़ा कम ध्यान देकर भी पढ़ाई कर लेते हैं तो आपको नौकरी के चिंता कभी नहीं होगी।

Phd क्या होता है? पूरी जानकारी

तो अब समझते हैं bca का syllabus क्या है। अर्थात इनमें किन सब चीजों के बारे में पढ़ाई करना होता है। इसके लिए मैंने आपको नीचे एक चार्ट दिखाया है, यह प्रमुख विषय बीसीए के अंतर्गत आते हैं।

• कंप्यूटर ग्राफिक्स
• इंटरनेट टेक्नोलॉजीज
• लेखा अनुप्रयोग
• एनीमेशन
• संगीत और वीडियो प्रसंस्करण
• व्यक्तिगत सूचना प्रबंधन
• प्रोग्रामिंग की भाषाएँ
• डेटाबेस प्रबंधन
• सिस्टम विश्लेषण
• शब्द संसाधन

BCA, छात्रों के बीच लोकप्रिय होने पीछे एक नही अपितु बहुत कारण है। हालाँकि, इस क्षेत्र के तेजी से विस्तार करने वाले अवसर के साथ, और भी बहुत सी नई अवसर खुल रही हैं।
बीसीए पाठ्यक्रम क्या-क्या आता है?
BCA पाठ्यक्रम में मुख्य रूप से डेटाबेस, नेटवर्किंग, डेटा संरचना, कोर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग, ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग, वेब स्क्रिप्टिंग, और डेवलपमेंट आदि जैसे विषय शामिल होते हैं। पाठ्यक्रम में छात्रों की रुचि के अवसर खुलते हैं।

BCA के बाद क्या करे?

दोस्तों सिर्फ बीसीए ही नहीं, बल्कि किसी भी सब्जेक्ट में स्नातक करने के बाद हर स्टूडेंट के मन में यह सवाल आता है कि “अब आगे क्या करें”। इस लेख में अन्य सब्जेक्ट के बारे में तो बात नहीं करेंगे, लेकिन आपको बीसीए के बारे में बताऊंगा कि बीसीए में स्नातक करने के बाद आपके सामने कितने विकल्प आते हैं और BCA में स्नातक करने बाद आप क्या-क्या कर सकते है। आइए उन कुछ विकल्पों पर नज़र डालते हैं जिसे bca complete करने के बाद किया जा सकता है।

#1 Government Jobs 👉 जैसा कि मैंने आपको ऊपर बताया कि आजकल सरकारी कामकाज भी ऑनलाइन हो गया। तो इसका फायदा सबसे ज्यादा बीसीए के छात्रोंं को होता है। जिला में ब्लाक में तहसील में यहां तक कि आपके गांव में कई सारी ऐसी vacancy आती है जिसमें जो बीसीए में स्नातक किया है सिर्फ उसके लिए होती है। तो यदि आप बीसीए में स्नातक सफलतापूर्वक किया है तो आप आने वाली vacancies पर नजर रखें आपको वहां बेहतर नौकरी मिल सकती है।

#2 Freelance Programmer 👉 दोस्तों सिर्फ परीक्षाा में नंबर प्राप्त कर लेने से कुछ नहींं होता है। अगर आपने bca के दौरान programing अच्छे से सीखे हैं या आप user interface बनाने में महारत हासिल की है, तो आपको कई सारी ऐसी IT company मिल जाएगा जहाँ आप नॉकरी कर सकते है। यदि आप bca के दौरान कुछ learn किए हैं, और आपको ऐसा लगता है कि आप उस काम को कर सकते हैं। तो आप छोटी कंपनियों को भी contact कर सकते हैं और वहां पर काम कर सकते हैं। भले ही वहां पर आपको payment कम मिलेगा (लगभग ₹5000 से ₹15000 के बीच) लेकिन वहां पर आपको कुछ सीखने को मिलेगा और एक experience मिलेगा जो आपको बड़ी कंपनियों में जॉब पाने में मदद करेगा।
इसके साथ-साथ आप कई सारी website में भी काम कर सकते हैं वहां भी आपको अच्छा खासा पेमेंट मिल जाएगा।

#3 Teaching 👉 दोस्तों इंडिया में teaching की बात ही क्या करना। बीसीए करने के बाद यह एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है क्योंकि इंडिया में teachers की बहुत कमी है। अच्छे टीचर आपको जल्दी नहीं मिलते हैं। आप सरकारी या अपना प्राइवेट इंस्टिट्यूट दोनों में से किसी में भी काम करके अच्छा पैसा कमाने के साथ-साथ इज्जत भी कमा सकते हैं। यदि आप लोगों को perfect knowledge देंगे तो आपको सम्मान और पैसा दोनों मिलेगा। इसके लिए सबसे जरूरी है कि आपने अपना BCA का कोर्स बहुत ही अच्छे ढंग से संपन्न किया हो।

#4 Reputed company 👉 यदि आप बीसीए करने के बाद किसी अच्छे कंपनी में काम करना चाहते हैं, तो इसकी संभावनाएं थोड़ी कम हो जाती है। लेकिन कुछ कंपनियां ऐसी है जैसे Wipro, TCS जिसका अपना exclusive program है ईसके बारे में आपको knowledge होना चाहिए। जैसे कि wipro का एक Program है “WASE” यह एक ऐसा प्रोग्राम है जिसमें बीसीए ग्रेजुएट या अंडर ग्रैजुएट लोगों को कैंपस सिलेक्शन के द्वारा लिया जाता है।

Wipro की official website पर जाकर आप WASE के बारे में अधिक जानकारी ले सकते हैं। वहां पर यदि आपका आपको जॉब मिल जाता है तो विप्रो कंपनी आपको सैलरी के साथ-साथ M.tech degree भी करवाती है। इसी प्रकार से TCS का भी एक program है “ignite” जो आपको यह offer देती है कि आप जॉब भी करें और आगे की डिग्री भी प्राप्त करें। यदि आप जॉब के साथ-साथ इस कंपनी से आगे की डिग्री प्राप्त करते हैं, तो आपकी सैलरी भी बढ़ती है। इसका विशेष जानकारी आप TCS के ऑफिशियल वेबसाइट से प्राप्त कर सकते हैं।

#5 Higher education 👉 दोस्तों अब जो मैं बताने वाला हूं वह अबतक की सबसे महत्वपूर्ण ऑप्शन है। दोस्तों “bca क्या होता है ?” बहुत लोग bca को टेक्निकल डिग्री मानते हैं। लेकिन असल में यह टेक्निकल डिग्री नहीं है यह टेक्निकल डिग्री तब होगी जब आप MCA करेंगे। मैं आपको यही suggest करूंगा कि आप बीसीए के बाद m.c.a. जरूर करें क्योंकि जैसे ही आप एमसीए कर लेते हैं तो आपको b.tech के छात्रों वाली सारी opportunity और facilities मिल जाती है। यदि आप विदेशों में जाकर काम करना चाहते हैं और सिर्फ बीसीए किए हैं तो आपको वीजा वगैरा में बहुत प्रॉब्लम होगी। लेकिन वही आप अगर एमसीए कर लेते हैं तो आपको आसानी से विदेशों में भी जॉब मिल जाएगी और वहां का वीजा मिल जाएगा।

तो जॉब की इतनी जल्दबाजी मत कीजिए। ऐसा नहीं है कि कोई भी छोटा-मोटा जॉब हो जाने के बाद लाइफ सेटल हो जाती है। आप उच्च शिक्षा प्राप्त कीजिए और अपने भविष्य को उज्जवल बनाइये। आप किसी अच्छे कॉलेज से एमसीए कीजिए अच्छी शिक्षा प्राप्त कीजिए उसके बाद आपको बहुत सारी job opportunity मिलेगी।

M.C.A क्या है ?

दोस्तो “bca क्या होता है” यह जानने के बाद अब बात करते हैं कि mca क्या है। जहां तक bca के बाद Higher education का संबंध है, तो गहन अध्ययन से bca पूरा करने के बाद छात्रों के लिए अगला पड़ाव एमसीए होता है, यह कंप्यूटर अनुप्रयोग में स्नातकोत्तर स्तर का पाठ्यक्रम है।

एमबीए
बीसीए के बाद उच्च अध्ययन के लिए एक और लोकप्रिय कोर्स विकल्प एमबीए डिग्री के लिए प्रबंधन की डिग्री हासिल करने का विकल्प चुनना है। बहुत से बीसीए स्नातक अपने स्नातक स्तर की पढ़ाई के बाद एमबीए कोर्स करते हैं। हालांकि एमबीए कोर्स में सुरक्षित प्रवेश के लिए छात्रों को कैट, एक्सएटी, एमएटी आदि जैसे एमबीए प्रवेश परीक्षाओं में शामिल होना होगा।

CCNP या CCNA प्रमाणपत्र क्या होता है ?
एक सिस्को सर्टिफाइड नेटवर्क प्रोफेशनल (CCNP) एक आईटी प्रोफेशनल है जिसने सिस्को कैरियर सर्टिफिकेशन का एक पेशेवर स्तर हासिल किया है, जो कि सिस्को सिस्टम्स द्वारा बनाया गया एक प्रकार का प्रोफेशनल सर्टिफिकेशन है। यह नेटवर्क संचालन विशेषज्ञ, नेटवर्क प्रशासकों और इंजीनियरों के लिए सबसे अच्छा है। CCNP क्लाउड, CCNP सहयोग, CCNP डेटा केंद्र, CCNP रूटिंग और स्विचिंग, CCNP सुरक्षा, CCNP सेवा प्रदाता, CCNP वायरलेस जैसे व्यावसायिक प्रमाणपत्र के छह क्षेत्र हैं।

विकास संभावना
आईटी उद्योग तेजी से बढ़ रहा है और इसके साथ, बीसीए स्नातकों की मांग भी हर गुजरते दिन बढ़ रही है। बीसीए स्नातकों के पास सरकारी और निजी क्षेत्र की कंपनियों दोनों में अच्छी नौकरी की संभावनाएं हैं।

निजी कंपनियां
सफलतापूर्वक अपने BCA degree प्राप्त करने के बाद, छात्र आसानी से Oracle, IBM, Infosys और Wipro जैसी प्रमुख IT कंपनियों में रोजगार के अवसर पा सकते हैं। बीसीए कार्यक्रम पूरा करने के बाद एक भूमिका जो कुछ कर सकते हैं, वह है सिस्टम इंजीनियर, सॉफ्टवेयर टेस्टर, जूनियर प्रोग्रामर, वेब डेवलपर, सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर, सॉफ्टवेयर डेवलपर आदि।

सरकारी क्षेत्र
BCA स्नातकों के पास सार्वजनिक क्षेत्र के संगठनों में रोजगार के अच्छे अवसर हैं। भारतीय वायु सेना (IAF), भारतीय सेना और भारत नौसेना जैसे सरकारी संगठन अपने आईटी विभाग के लिए कंप्यूटर पेशेवरों का एक बड़ा समूह नियुक्त करते हैं।
बीसीए स्नातक के लिए कुछ लोकप्रिय जॉब प्रोफाइल हैं: –
सिस्टम इंजीनियर – एक सिस्टम इंजीनियर सॉफ्टवेयर, सर्किट और पर्सनल कंप्यूटर का विकास, परीक्षण और मूल्यांकन करता है।
विभिन्न सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट फर्मों में प्रोग्रामर – प्रोग्रामर का कर्तव्य सॉफ्टवेयर के लिए कोड लिखना है। एक प्रोग्रामर मुख्य रूप से कंप्यूटर भाषा में काम कर रहा है जैसे असेंबली, COBOL, C, C ++, C #, Java, Lisp, Python, आदि।
वेब डेवलपर – एक वेब डेवलपर एक प्रोग्रामर है जो विश्वव्यापी वेब एप्लिकेशन के विकास में माहिर है। एक वेब डेवलपर की भूमिका वेबसाइटों के निर्माण और रखरखाव की है। एक वेब डेवलपर को HTML / XHTML, CSS, PHP, JavaScript, आदि में कौशल होना चाहिए। वे विभिन्न वेब डिजाइनिंग कंपनियों और ऑनलाइन डिजिटल मार्केटिंग कंपनियों में कैरियर के अच्छे अवसर पाते हैं।
सॉफ्टवेयर डेवलपर – सॉफ्टवेयर डेवलपर की एकमात्र जिम्मेदारी सॉफ्टवेयर विकसित करना है जो लोगों के कार्यों को आसान बनाता है और कुशलतापूर्वक कार्य करने में सक्षम बनाता है। एक सॉफ्टवेयर डेवलपर भी परीक्षण स्थापित करता है और सॉफ्टवेयर का रखरखाव करता है।

बीसीए प्रवेश परीक्षा
बीसीए प्रवेश परीक्षा आम तौर पर एक ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्नावली होती है और इसका सिलेबस कक्षा 12 वीं के विषयों पर आधारित होता है। BCA प्रवेश परीक्षा आयोजित करने वाले कुछ लोकप्रिय विश्वविद्यालय हैं:
इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय
गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
पंजाब विश्वविद्यालय

लोकप्रिय बीसीए प्रवेश परीक्षाओं में से कुछ इस प्रकार हैं:
सीईटी (जीजीएसआईपीयू) बीसीए
एआईएमए यूजीएटी
KIITEE BCA
LUCSAT BCA

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.