(बीबीए) BBA course detail in hindi with important tips to complete this.

जैसे जैसे भारत डिजिटल हो रहा है, वैसे ही ऑनलाइन ओर ऑफलाइन दोनों बिज़नेस भी बढ़ रहे है । ऐसे में अगर आप भी अपना खुद का कोई बिज़नेस करना चाहते हो, या बिज़नेस के छेत्र से जुड़ी हुई जॉब करना चाहते है, तो आपको bba कोर्स के बारे में जानकारी होना जरूरी है। लेकिन अगर आपको bba course के बारे में जानकारी नही है, तो कोई बात नही है, इस पोस्ट में हम आपको bba course detail in hindi के बारे में पूरी जानकारी बताने वाले है।

कॉलेज और यूनिवर्सिटी के लिए पढ़ाई एक अच्छा खासा बिज़नेस बन गया है। ऐसे में आपको अपने भविष्य के लिए सही कोर्स का चुनाव करना बहूत जरूरी है। देखने मे आता है , की लोग अपने दोस्तों या परिवार के अन्य लोगो को देखकर ऐसे कोर्सेज में admission ले लेते है जिनमे उनकी रुचि भी नही होती है । ओर बाद में उस पढ़ाई का कोई मतलब नही रह जाता है। ऐसे में अपना कैरियर बनाने के लिए आप हमारी वेबसाइट की मदद ले सकते है। यहां आपको bba course kya hai, bba course kaise karte hai, इन सभी विषयों के बारे में बताया है।

अनुक्रम छुपाए
3. बीबीए कोर्स करने के बारे में जानकारी – bba course detail in hindi

बीबीए कोर्स क्या है – bba course kya hai.

बीबीए कोर्स करने से पहले bba कोर्स के बारे में जानकारी होना बहूत जरूरी है, जिससे कि आपको अपने भविष्य के लक्ष्य निर्धारित करने में आसानी हो सके ओर आप अपना खुद का बिज़नेस कर सके।

बीबीए कोर्स तीन साल का कोर्स होता है, जिसमे आपको  बिज़नेस मैनजमेंट (business management) के बारे में सिखाया जाता है। इसमे आपको बिज़नेस सुरु करने से लेकर बिज़नेस को ब्रांड बनाने की सभी तकनीकों के बारे में गहराई से जानकारी दी जाती है। इसमे आपको communication skill ओर व्यापार में लाभ प्राप्त करने के बारे में पढ़ाया जाता है ।

ऐसे में अगर आपकी भी बिज़नेस में रुचि है। ओर आप भविष्य में अपना खुद का बिज़नेस करना चाहते है, तो इसके लिए bba course करना बहूत ज़रूरी है। इस कोर्स को करने के बाद आप बैंको, फाइनेंस कंपनियों, लिमिटेड कंपनियों में जॉब भी कर सकते हो, ओर अच्छे खासे पैसे कमा सकते है।

बीबीए का फुल फॉर्म क्या है – bba full form in hindi.

बीबीए कोर्स करने से पहले आपको bba की full form के बारे में पता होना जरूरी है, क्योंकि एक विधार्थी होने के नाते आपको सभी कोर्सेज की full form का पता होना जरूरी है।

Bba full form को Bachelor of Business Administration के नाम से जाना जाता है। यह नाम बड़ा होने के कारण इसको ज़्यादातर लोग bba कोर्स के नाम से ही जानते है। इसमे एक व्यक्ति को बिज़नेस मैन बनने के लिए तैयार किया जाता है

Bba की full form को हिंदी में व्यवसाय प्रबंध के नाम से जाना जाता है। अर्थाथ एक व्यवसाय के सफल संचालन के लिए व्यवसाय का सही प्रबंधन करने से है। लेकिन याद रखने में थोड़ा अजीब शब्द होने के कारण लोग इसे bba course के नाम से पहचानते है। जो निम्न शब्दो से मिलकर बना है।

B = BACHELOR

B = BUSINESS

A = ADMINISTRATOR

बीबीए कोर्स करने के बारे में जानकारी – bba course detail in hindi

बीबीए कोर्स करने के लिए आपको इसकी qualification को पूरा करना जरूरी है। अगर आप इन योग्यताओं को पूरा नही करते हो, तो आपका फॉर्म रिजेक्ट किया जा सकता है। यहां पर हम आपको बीबीए कोर्स की योग्यताएं, फीस, विषय आदि के बारे में बता रहे है, जिससे कि आपको bba course करने में आसानी हो ओर पूरी जानकारी मिल सके।

अगर आप सरकारी कॉलेज से बीबीए का कोर्स करना चाहते हो, तो इसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम को पास करना पड़ता है, इसके लिए हर साल bba course के फॉर्म पर आवेदन प्रक्रिया सुरु होती है। लेकिन अगर आप प्राइवेट कॉलेज से bba का कोर्स करना चाहते है, तो आपको डायरेक्ट एडमिस्शन मिल जायेगा। सरकारी कॉलेज की फीस प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले काफी कम  होती है। bba course detail in hindi

बीबीए कोर्स करने के लिए आवश्यक योग्यताएं क्या है – bba course qualification in hindi

बीबीए का कोर्स करने के लिए आपको bba की सभी आवश्यक योग्यताओं को पूरा करना होता है। यहां पर हम आपको bba course के लिए सभी योग्यताओं के बारे में बता रहे है।

1. बीबीए का कोर्स करने के लिए उमीदवार को कम से कम 12th क्लास पास होना जरूरी है।

2. बीबीए कोर्स में साइंस, कॉमर्स, आर्ट्स के सभी स्टूडेंट एडमिशन ले सकते है।

3. बीबीए का कोर्स करने के लिए विद्दार्थी को 12 क्लास में कम से कम 45% प्रतिशत मार्क्स मिले हुए होना चाहिए।

अगर आप इन योग्यताओं को पूरा करते हो, तो आप bba का course कर सकते हो।

बीबीए कोर्स की फीस क्या होती है – bba course detail in hindi

आपको bba कोर्स की फीस अलग अलग देखने को मिल सकती है। सरकारी कॉलेज के मुकाबले प्राइवेट कॉलेज में bba की फीस बहूत ज़्यादा देखने को मिलती है। अगर आप प्राइवेट कॉलेज से bba का कोर्स करते हो , तो आपको एक सेमस्टर के लिए 30 हज़ार से 70 हज़ार रुपये तक कि फीस देनी होती है। इस तरह 3 साल की कुल फीस 1 लाख 80 हज़ार रुपये से लेकर 5 लाख रुपये तक हो सकती है।

लेकिन अगर आप सरकारी कॉलेज से bba का course करना चाहते हो, तो आपको इसके लिए एंट्रेंस एग्जाम को पास करना होता है। सरकारी कॉलेजो में हर साल एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन किया जाता है। अगर आप इस एग्जाम को पास कर लेते हो ,तो आप बहूत कम फीस में bba का कोर्स कर सकते हो क्योंकि सरकारी कॉलेजो की फीस बहूत कम होती है।

बीबीए कोर्स कितने साल का कोर्स होता है – bba course detail in hindi

Bba course 3 साल का कोर्स होता है। इस कोर्स में कुल 6 सेमेस्टर होते है। हर एक सेमेस्टर का समय 6 महीने का होता है। जब एक सेमस्टर की पढ़ाई पूरी हो जाती है , तो इसके बाद एग्जाम का आयोजन किया जाता है। 6 सेमस्टर के लिए तीन साल  में 6 बार परीक्षा का आयोजन किया जाता है। जब आप सभी सेमेस्टर के पेपर पास कर लेते है , तो आपको bba course की डिग्री दे दी जाती है।

बीबीए कोर्स किस विषय से करना चाहिए – bba course in hindi

जिस प्रकार से आर्ट्स में हिस्ट्री, पोलटिकल साइंस, हिंदी, सोशलॉजी आदि अलग अलग विषय होते है, वैसे ही bba के course में भी अलग अलग विषय होते है। इसमे आपको अपनी रुचि अनुसार विषय चुनने होते है। अगर आप marketing के छेत्र में bba करना चाहते है, तो आपको bba marketing का course करना चाहिए और अगर आप बिज़नेस फाइनेंस के छेत्र में बीबीए का course करना चाहते है तो आपको bba फाइनेंस के विषय को चुनना चाहिए। यहां पर हम बीबीए के सभी विषयों के बारे में बता रहे है –

1 . Bachelor of Business Administration Marketing

2. Bachelor of Business Administration Finance

3. Bachelor of Business Administration International Business

4. Bachelor of Business Administration Human Resource Management

इन निम्न विषयो में bba का कोर्स किया जा सकता है।

बीबीए कोर्स का सिलेबस क्या है – bba course syllabus in hindi

बीबीए कोर्स कुल 6 सेमेस्टरों में पूरा होता है। इसमे हर सेमेस्टर की एग्जाम के हिसाब से सिलेबस निर्धारित होता है। यहां पर हम आपको सभी सेमेस्टर के सिलेबस के बारे में बता रहे है।

Bba course First Semester 

  • Elements of Management
  • Enrichment Course-I
  • Business English – I
  • Business Mathematics – I
  • Principles of Micro Economics
  • Principles of Financial Accounting

Bba course Second semester 

  • Company Accounts
  • Business English – II
  • Principles of Macro Economics
  • Introduction to Indian Society
  • Business Mathematics – II
  • Enrichment Course –II

Bba course Third Semester 

  • Enrichment Course -III
  • Managerial Skills
  • Introduction to Indian Business Environment
  • Introduction to Business Statistics
  • Government & Business
  • Oral Communication in Business

 Bba course Fourth Semester 

  • English Literature
  • Enrichment Course –IV
  • Taxation
  • Introduction to Operations Research
  • Introduction to Organizational Behavior
  • Indian Business History

 Bba course Fifth Semester 

  • Business Law
  • Human Resource Management
  • Fundamentals of Financial Management
  • Marketing Management
  • Enrichment Course –V
  • Indian Economy

 Bba course Six Semester 

  • Principles of Research Methodology
  • Introduction to Strategic Management
  • Enrichment Course –VI
  • Management Information System
  • Financial Services

बीबीए का कोर्स करने के बाद आगे की पढ़ाई कैसे करे – bba course detail in hindi

ज़्यादातर विद्यार्थी bba करने के बाद पढ़ाई छोड़ देते है, क्योंकि उनको लगता है, की bba करने के बाद एक अच्छा बिज़नेस मैन बन सकते है। लेकिन अगर आपको एक सफल बिज़नेस मैन बनना है, तो हमेशा सीखते रहना चाहिए। bba में जहाँ पर आपको बिज़नेस का मैनेजमेंट करने के बारे में सिखाया जाता है, वही mba में आपको बिज़नेस प्रबंध के बारे में बारीकी से हर चीज़ के बारे में सिखाया जाता है, जिससे आप एक बिज़नेस को ब्रांड बना सकते है ओर एक सफल उद्यमी बन सकते है।

Bba के बाद जॉब मिलना आसान हो जाता है। अगर आपके पास पैसे नही है, तो आप जॉब के साथ भी mba का कोर्स कर सकते है। bba कोर्स करने के बाद ज़्यादातर स्टूडेंट mba के कोर्स में दाखिला लेते है। ऐसे में अगर आपकी रुचि बिज़नेस करने में है, तो आपको mba का course भी करना चाहिए।

BCA क्या होता है ? पूरी जानकारी हिंदी में।

बीबीए कोर्स करने के बाद जॉब के बारे में जानकारी – bba course detail in hindi

Bba का course करने के बाद जॉब मिलना आसान हो जाता है, क्योंकि B.A, B.com, B.Sc के मुक़ाबले बहूत कम लोग bba का कोर्स करते है। bba का कोर्स करने के लिए आपको किस बड़े शहर की कॉलेज या यूनिवर्सिटी में दाखिला लेना होता है। इसलिए बहूत कम लोग इस कोर्स को कर पाते है। ऐसे में अगर आप इस कोर्स को करते हो, तो आपके लिए जॉब मिलना बहूत आसान हो जाएगा। यहां पर हम आपको कुछ व्यवसायों छेत्रो के बारे में बता रहे है, जहा पर bba करने के बाद अच्छी जॉब प्राप्त क जा सकती है।

  • Finance Manager
  • Marketing Manager
  • Research Analyst
  • Financial Analyst
  • HR Manager
  • Business Consultant

Bba करने के बाद हम इन छेत्रो में आसानी से जॉब प्राप्त कर सकते हो।

बीबीए कोर्स करने के बाद सेलरी कितनी मिलती है – bba course in hindi

इस विषय मे किसी भी व्यक्ति के पास कोई फिक्स जवाब नही है, क्योंकि bba करने के बाद व्यक्ति के नॉलेज के अनुसार salary  मिलती है। अगर हम नार्मल सेलेरी की बात करे तो bba करने के बाद 15000 हज़ार से 20000 हज़ार रुपये तक कि सेलरी मिलती है। अगर आप किसी कंपनी में अच्छा वर्क करते है, तो प्रमोशन के द्वारा आपकी सेलेरी 40 हज़ार रुपये से लेकर 65000 हज़ार रुपये तक हो सकती है।

बीबीए कोर्स करने के क्या फायदे है – bba course detail in hindi

1.इस कोर्स के करने के बाद आप अपना खुद का बिज़नेस सुरु कर सकते है और अच्छा खासा पैसा कमा सकते है।

2. Bba कोर्स करने के बाद सरकारी छेत्रो में भी जॉब प्राप्त की जा सकती है।

3. इस कोर्स को करने के बाद आपको अन्य छेत्रो के बारे में भी जानकारी प्राप्त हो जाती है, इससे आप अन्य छेत्रो में भी कार्य कर सकते है और अपने अनुभव का लाभ प्राप्त कर सकते है।

निष्कर्ष – इस पोस्ट में हमने bba course detail in hindi के बारे में बताया है। अगर आप भी बुसिनेस सुरु करना चाहते हो या फिर बिज़नेस से संबंधित जॉब प्राप्त करना चाहते है , तो आपको बीबीए कोर्स करना चाहिए जिससे कि आपको व्यवसाय प्रबंधन के बारे में नॉलेज प्राप्त हो सके और आप सफल बिज़नेस मेन बन सके।

अगर आपको हमारी पोस्ट bba course detail in hindi पसंद आई है, तो इसे अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे, जिससे कि उनको भी bba course in hindi के बारे में पता चल सके।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.